Jigneshpatel09
Active Level 7
Options
Galaxy Gallery
#Fact Vs #Memory.

image


स्मृति को याद रखना मन का मूल स्वभाव है, क्योंकि हमारी स्मृति निरंतर भेद पैदा करने से ही बनती है और केवल भेद ही याद रह सकता है, तथ्य नहीं..!! हृदय(अप्रभावी दिमाग) को स्मृति को याद रखने की जरूरत नहीं है, क्योंकि वह तथ्यों को जानता है, दिल के लिए, कोई भी मनुष्य या वस्तु या स्थिति हो, ये कभी भी एक छवि का एक रूप नही हो सकती है, जो एक भेद पैदा करके बनाई गई स्मृति का रूप हो जाती है..!! लेकिन ये सभी केवल तथ्य होते है, और कोई भी तथ्य को हमारी स्मृति द्वारा अवशोषित नहीं किया जा सकता है। हमारी स्मृति कोई भी तथ्य को अवशोषित करने में असमर्थ है, यह केवल स्मृति के रूप को ही अवशोषित कर सकती है। नमन।~🌼 {Jignesh, An identity}
0 Comments