Jigneshpatel09
Active Level 7
Options
Galaxy Gallery
We are related only with the mind-made image of the object or human, so the attachment exists, A real relationship never have an attachment, The main reason for the existence of attachment is the wrong means of obtaining the essence, Which is the mere form of experience, that constantly separates the experiencer. 


image


Greetings. 🌼🌼 

हम केवल वस्तु या मानव की मन-निर्मित छवि से संबंधित हैं, इसलिए आसक्ति मौजूद है, सच्चे रिश्ते में कभी लगाव नहीं होता, आसक्ति के अस्तित्व का मुख्य कारण सार प्राप्त करने का गलत साधन है, जो अनुभव का मात्र रूप है, जो लगातार अनुभवकर्ता को अलग करता है।

 नमन।~🌼 {Jignesh, An identity}
0 Comments